MP Board Exam 2021 : 10वीं की परीक्षा निरस्त, लेकिन 83 करोड़ परीक्षा फीस लौटाने के मूड में नहीं माशिमं

MP Board Exam 2021 : 10वीं की परीक्षा निरस्त, लेकिन 83 करोड़ परीक्षा फीस लौटाने के मूड में नहीं माशिमं 

 MP Board Exam 2021, MPBOARD EXAM, mp board exam, mpboard class 10 result, mp board result

Join

एमपी बोर्ड ने प्रति स्टूडेंट्स परीक्षा फीस के रूप में लिए थे 925 रुपए 

Join

कोरोना संक्रमण के चलते 10वीं की परीक्षा निरस्त कर सरकार ने स्कूलों को इंटरनल असेसमेंट से रिजल्ट बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद माध्यमिक शिक्षा मंडल ने स्कूलों को प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए जारी 3 करोड़ वापस मांगे हैं। हालांकि, 10वीं के स्टूडेंट्स से परीक्षा फीस के रूप में लिए गए करीब 83.25 करोड़ रुपए वह वापस करने को तैयार नहीं है। मंडल का कहना है कि 10वीं की परीक्षा की पूरी तैयारी कर ली गई थी। परीक्षा मंडल के कारण निरस्त नहीं हुई। इसलिए फीस वापस नहीं की जाएगी। उसका कहना है कि 10वीं के प्रश्न पत्र तैयार करने में करीब डेढ़ करोड़, कॉपियों पर करीब पांच करोड़ तथा ओएमआर शीट पर एक करोड़ और प्रैक्टिकल में करीब तीन करोड़ रुपए मिलाकर 10 करोड़ रुपए से ज्यादा अब तक खर्च किए जा चुके हैं। 


MPBOARD EXAM 2021: प्रदेश भर के 10.50 लाख स्टूडेंट्स ने किए थे आवेदन 

10वीं की परीक्षा के लिए इस बार प्रदेश भर से 10.50 लाख स्टूडेंटस ने आवेदन किए।मंडल ने प्रति स्टूडेंट्स से 925 रुपए परीक्षा शुल्क लिया। इसमें से आरक्षितवर्गके डेढ़ लाख विद्यार्थियों के शुल्कको कमकरदियाजाएतोनौलाख स्टूडेंट्ससेपरीक्षाफीसके रूप में मंडल को83.25 करोड़ रुपए मिले हैं।मंडल ने प्रश्नपत्र व आंसरशीटों को तैयार करने या प्रैक्टिकल के लिए जिलों में राशि भेजने में करीब दस करोड़ रुपए भी खर्च कर दिए।मंडल के पास फिर भी 73.25 करोड़ रुपए अभी भी बचे हुए हैं। 

प्रैक्टिकल के 3 करोड़ वापस करने के स्कूलों को आदेश 

एमपी बोर्ड प्रैक्टिकल के लिए 30 रुपए प्रति विद्यार्थी के हिसाब प्रदेश के सभी स्कूलों को भेजता है।इस तरह से प्रदेशभर के करीब दस लाख विद्यार्थियों के लिए तीन करोड़ रुपए की राशि प्रदेश के सभी स्कूलों को भेजी गई थी।लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए दसवीं की परीक्षा निरस्त कर दी गई।इसके बाद माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सभी स्कूलों को आदेश  जारी कर प्रायोगिक परीक्षा आयोजित करवाने के लिए आवंटित की गई राशि को मंडल के खाते में वापस जमा कराने के आदेश दिए हैं। 

रिजल्ट जारी करने से लेकर मार्कशीट तकमें खर्च होगा . 

हमने 10वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा निरस्त जरूर कर दी है, लेकिन विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन नहीं दिया गया है।जल्द ही बाकायदा सभी विद्यार्थियों का रिजल्ट जारी कर उन्हें मार्कशीट भी दी जाएंगी।इन सबमें खर्च तो होगा, इसलिए 10वीं की परीक्षा फीस वापस नहीं होगी।

परीक्षा फीस ही आय का मुख्य साधन है,इसी से वेतन देते हैं . 

माध्यमिक शिक्षा मंडल के पास आय का साधन केवल बच्चों की फीस ही होती है।इसी से कर्मचारियों और अधिकारियों को वेतन दिया जाता है।मंडल के द्वारा 10वीं कक्षा के बच्चों को रिजल्ट दिया जाएगा।इसलिए उनकी परीक्षा फीस वापस नहीं की जाएगी।
MP Board Exam 2021, MPBOARD EXAM, mp board exam, mpboard class 10 result, mp board result

Leave a Comment

error: Content is protected !!